Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu



मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान

मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान

मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान की जानकारी : मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान में पात्र किसानों को प्रति वर्ष 2000 रुपये मिलेंगे। 

मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान की योग्यता : मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान का लाभ उन सभी पात्र किसको को मिलेगा जो की केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में शामिल है, जिनको प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की सभी किस्ते लगातार मिल रही है 

मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान लाभ : मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान में पात्र किसानों को प्रति वर्ष 2000 रुपये मिलेंगे। जो की किसानों को 3 किस्तों में दिए जाएगें प्रथम क़िस्त 1000रु की किसानों को मिलेगी, दूसरी किस्त 500 रु की मिलेगी, तीसरी किस्त 500 रु की किसानों को मिलेगी, ये सभी किस्त किसानो को 4 -4  माह के अंतराल में मिलेगी 

मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में आवेदन कैसे करे : मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना राजस्थान में किसानों को ऑनलाइन आवेदन करने की जरूरत नहीं है इस योजना का लाभ उन किसानों  को मिलेगा जिसका नाम केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में शामिल है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे किया जाता है उसके लिए आप निम्न वीडियो को देखें 


मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के पैसे कौनसे बैंक खाते में मिलेंगे : इस योजना का लाभ उसी बैंक खाते में दिया जाएगा जो की आधार कार्ड से लिंक है ओर खाते में NPCI DBT शुरू है NPCI DBT बैंक खाते में शुरू है या नहीं उसके लिए आप निम्न वीडियो को देखे 



  

PM- SURYA GHAR MUFT BIJALI YOJANA ( प्रधानमंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना की पूरी जानकारी)

 प्रधानमंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना

 

  1. प्रधानमंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना क्या है :- इस योजना के तरह आवासीय घरों की छत पर सौर ऊर्जा सयंत्र लगाने पर केन्द्र सरकार सब्सिडी प्रदान करती है 
  2.  प्रधानमंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना के तहत कितनी सब्सिडी दी जाती है  :- इस योजना के तरह निम्न प्रकार सब्सिडी प्रधान की जाती है 
    • अगर आपके बिजली की खपत 0 - 150 किलोवॉट है तो आपको 1 से 2 किलोवॉट का सौर ऊर्जा सयंत्र लगाना होगा जिस पर केन्द्र सरकार 30 हजार रु प्रति किलोवॉट सब्सिडी देंगी जो की आपको  (30000 से 60000 रु )
    • अगर आपके बिजली की खपत 150 - 300 किलोवॉट है तो आपको 2 से 3 किलोवॉट का सौर ऊर्जा सयंत्र लगाना होगा जिस पर पहले के 2 किलोवॉट पर केन्द्र सरकार 30 हजार रु प्रति किलोवॉट के हिसाब से सब्सिडी देंगी जो की आपको  (60000 रु ) ओर तीसरे किलोवॉट पर 18000 रु सब्सिडी मिलेगी जिसकी कुल सब्सिडी बनती है 78000 रु
    • अगर आप 3 किलोवॉट से अधिक का सौर ऊर्जा सयंत्र लगाते है तो भी आपको 78000 रु ही सब्सिडी प्रधान की जाएगी 
  3. प्रधानमंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना में आवेदन के जरुरी दस्तावेज :- 
    • मोबाइल नंबर 
    • बिजली का बिल 
    • आधार कार्ड 
    • बैंक खाते की पासबुक / रद्द किया हुआ चेक 
  4. कितनी जगह की जरुरी पड़ेंगी 
    • 1 किलोवॉट : 100SF 
    • 2 किलोवॉट : 200SF 
    • 3 किलोवॉट : 300SF 
  5. कितनी बिजली का उत्पादन होगा 
    • 1 किलोवॉट : 4 से 5.5 यूनिट प्रतिदिन 
    • 2 किलोवॉट : 8 से 11 यूनिट प्रतिदिन 
    • 3 किलोवॉट : 12 से 16.5 यूनिट प्रतिदिन  
  6. प्रधानमंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली आवेदन कहा से करना है :- इस योजना का लाभ लेने लिए आपको registration.pmsuryaghar.gov.in पोर्टल से ऑनलाइन आवेदन करना होगा 
  7. प्रधानमंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली आवेदन का तरीका :- आपकी आवेदन निम्न शरण पूरा होगा ओर आपको सब्सिडी मिलेगी 
    • शरण 1 :-  registration.pmsuryaghar.gov.in पर आप रजिस्ट्रेशन करंगे 
    • शरण 2 :-  उसके बाद आपको योजना में आवेदन करना है 
    • शरण 3 :- आवेदन सम्बंधित डिस्कॉम के पास पहुंच जाएगा डिस्कॉम या तो आवेदन स्वीकार करेंगी या अस्वीकार करेंगी या कमी होने पर आवेदक को सुधार के लिए वापिस भेजेंगी 
    • शरण 4 :- अगर आपका आवेदन स्वीकार होता है तो चयनित पंजीकृत विक्रेता के पास भेजा जाएगा चयनित पंजीकृत विक्रेता सौर ऊर्जा सयंत्र आपके घर की छत पर लगाएगा उसके बाद सौर ऊर्जा सयंत्र का विवरण आवेदक के फोटो के साथ ऑनलाइन पोर्टल पर अपलोड करेगा 
    • शरण 5 :- उसके बाद डिस्कॉम अधकारी सौर ऊर्जा सयंत्र का निरक्षण कर सौर ऊर्जा सयंत्र पर नेट मीटर लगाएगा 
    • शरण 6 : - नेट मीटर की स्थापना के बाद डिस्कॉम आधकारी पोर्टल पर मौजूद विवरण को मंजूरी देगा और कमीशनिंग प्रमाण पत्र तैयार किया जाएगा जो आवेदक के खाते में दिखाई देंगा 
    • शरण 7 :- कमीशनिंग प्रमाण पत्र तैयार होने के बाद आवेदन रद्द किए गए चेक या बैंक डायरी के पहले पेज की फोटो कॉपी से सौर ऊर्जा सयंत्र सब्सिडी के लिए दावा करेगा 
    • शरण 8 :- सभी विवरण सही होने की दशा में केंद्र सरकार 30 दिनों के भीतर भीतर सब्सिडी सीधे आपके बैंक खाते में जमा हो जाएगी 
इस प्रकार से केन्द्र सरकार की प्रधान मंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना का लाभ मिल जाएगा | 



Gopal Credit Card Yojana - गोपाल क्रेडिट कार्ड योजना

गोपाल क्रेडिट कार्ड योजना (Gopal Credit Card Yojana)

राजस्थान सरकार ने गोपालक किसानों के लिए Gopal Credit Card Yojana प्रारम्भ की है Gopal Credit Card Yojana  के तहत गोपालक किसानों को गोवंश हेतु शेड निर्माण, खेली का निर्माण तथा दूध /चारा /बाटा से सम्बन्धी उपकरण खरीदने पर  1 लाख रु का ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा जिसमें प्रथम शरण Gopal Credit Card Yojana के तहत 5 लाख गोपाल किसानों को ब्याज मुक्त ऋण उपलबध कराया जाएगा, Gopal Credit Card Yojana योजना में कुल 150 करोड़ रुपए खर्च किए जाएगे 

गोपाल क्रेडिट कार्ड योजना क्या है (Gopal Credit Card Yojana kiya Hai)

  • Gopal Credit Card Yojana में गोपालक किसानों को  1 लाख रु का ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा जिसका इस्तेमाल किसान गोवंश हेतु शेड निर्माण, खेली का निर्माण तथा दूध /चारा /बाटा से सम्बन्धी उपकरण खरीदने के लिए कर सकता है 

गोपाल क्रेडिट कार्ड योजना लाभ क्या मिलेगा  

  • Gopal Credit Card Yojana में जरूरत मंद किसानो को 1 लाख रु का ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा जिस प्रकार से किसानो को Kisan Credit Card Yojana के तरह ऋण दिया जाता है उसी प्रकार 
गोपाल क्रेडिट कार्ड योजना के लिए संभावित जरुरी दस्तावेज 
  • आधार कार्ड 
  • जन आधार पशुपालक 
  • बैंक खाते की पास बुक 
  • पशु पालन प्रमाण पत्र 

गोपाल क्रेडिट कार्ड योजना आवेदन कैसे होगा 

  • जिस प्रकार से Kisan Credit Card Yojana में आवेदन होता है उसी प्रकार से Gopal Credit Card Yojana में आवेदन होगा व पशुपालको के GCC कार्ड बनेगा उसी से ऋण मिलेगा | लेकिन अभी योजना की घोषणा की गई है आवेदन शुरू नहीं हुए है जैसे ही आवेदन शुरू होंगे आपको यही पर जानकारी मिल जाएगी 

Mukhyamantri Vishwakarma Pension Yojana Rajasthan - मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना 2000 रु पेंशन मिलेगी

मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना राजस्थान की पूरी जानकारी 


मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना क्या है 

(Mukhyamantri Vishwakarma Pension Yojana)

  • मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना के तहत अलग-अलग वर्ग जिसमें शामिल है श्रमिक स्ट्रीट वेण्डर, कलाकारों को प्रतिमाह 2000 रु की पेंशन राजस्थान सरकार देंगी 

मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना के लाभ 

(Mukhyamantri Vishwakarma Pension Yojana Benifit)

    • मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना के तहत इस योजना की योग्यता पूरी करने वाले लोगो की जो इसमें अंशदान जमा कराता है उसे 2000 रु की मासिक पेंशन 60 वर्ष की आयु पूरी होने पर मिलेगी 

    मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना योग्यता 

    (Mukhyamantri Vishwakarma Pension Yojana Eligibility )

      • मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना में आवेदन करने के लिए आवेदन की आयु 18 से 45 वर्ष की होना जरुरी है 
      • मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना में आवेदन कर्ता श्रमिक,स्ट्रीट वेण्डर, या लोक कलाकार होना जरुरी है 

      मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना की पेंशन कैसे मिलेगी 

      (Mukhyamantri Vishwakarma Pension Yojana Apply)

        • मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए आपको इस योजना में आवेदन करके अंशदान जमा कराना होगा जो की 60 रु से लगाकर 100 रु तक हो सकता है अंशदान कितना जमा होगा यह आपकी मौजूदा आयु पर निर्भर करना है अंशदान आपको हर महीने जमा कराना होगा जब आपकी आयु 60 वर्ष पूरी हो जाएगी तब आपको 2000 रु पेंशन मिलने लग जाएगी 

        मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना में आवेदन कैसे करे 

        (Mukhyamantri Vishwakarma Pension Yojana Apply)

          • मुख्यमंत्री विश्वकर्मा पेंशन योजना का अंशदान जमा कराके इस योजना से जुड़ने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा जब इस योजना में आवेदन मांगे जाएगें जैसे ही आवेदन मांगे जाएगें तब में आपको आवेदन का लिंक यही पर बता दूंगा 
          • आवेदन करने का लिंक :- अभी तक आवेदन शरू नहीं हुए है 

          pradhanmantri suryoday yojana 2024 apply online (प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना)

           सूर्योदय योजना क्या है?

          सूर्योदय योजना के तहत सरकार आर्थिक रूप के कमजोर लोगों के घरों पर रूफटॉप सोलर इंस्टॉल करेगी। इससे उनकी खुद की बिजली की जरूरत तो पूरी होगी ही, साथ ही एक्सट्रा इलेक्ट्रिसिटी बेचकर कमाई भी कर सकेंगे। योजना के ऐलान के साथ ही पीएम मोदी ने इस कैंपेन के जरिए सूर्योदय योजना के तहत 1 करोड़ घरों पर रूफटॉप सोलर लगाया जाएगा, हालांकि, घर की छतों पर सोलर सिस्टम इंस्टॉल करने का काम सरकार पिछले एक दशक से ज्यादा समय से चल रही सरकारी योजना 'नेशनल रूफटॉप स्कीम' के तहत पहले से कर रही है, लेकिन यह प्रोग्राम तय समय से काफी पीछे चल रहा है। ओर टारगेट पूरा नहीं हो पाया है 

          प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के फायदे

          • यह योजना ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने में मदद करेगी।
          • यह योजना लोगों को बिजली के बिलों में बचत करने में मदद करेगी।
          • यह योजना पर्यावरण को स्वच्छ रखने में मददगार साबित होगी।
          प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना में आवेदन की पात्रता 
          • इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक भारतीय नागरिक होना जरुरी है 
          • आवेदन के घर की छत पर सोलर सिस्टम लगाने की जगह होने चाइए 
          • आवेदक सरकारी कर्मचारी नहीं होना चाइए 
          प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना में आवेदन के दस्तावेज 
          • आधार कार्ड जिसमें मोबाइल नंबर लिंक हो 
          • आय प्रमाण पत्र 
          • मोबाइल नंबर 
          • बिजली का बिल 
          • बैंक खाते की पासबुक 
          • पासपोर्ट साइज फोटो 
          • राशन कार्ड 
          • पते का प्रमाण 
          प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना में आवेदन कैसे करे 
          • इस योजना में जैसे ही आवेदन प्रारभ होने तो जानकारी अपडेट कर दी जाएगी 
          सरकार की अन्य महत्वपूर्ण योजनाए 
          मुख्यमंत्री आश्रित सेवा योजना
          मुख्यमंत्री गैस सिलेंडर योजना
          मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना
          मुख्यमंत्री डिजिटल सेवा योजना
          अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना
          राजस्थान जननी सुरक्षा योजना
          आईएम शक्ति उड़ान योजना
          प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना 2024
          प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना 2024

          PM Vishwakarma Yojana All Details In Hindi (प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना 2024)

          PM Vishwakarma Yojana All Details In Hindi (प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना 2024)
          छोटे कारीगर जो हाथ या छोटे औजारों के माध्यम से पारंपरिक तरीके से कार्य करते है उनको अधिक सुविधाएं उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से पीएम विश्वकर्मा योजना संचालित की जा रही है जिसमे छोटे कारीगरों को वित्तीय सहायता (लोन) दिया जाता है !

          प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का लाभ किसको मिल सकता है
          1. सुथार
          2. लोहार
          3. सुनार
          4. मोची
          5. मिस्त्री (कड़िया)
          6. नाई
          7. धोबी
          8. दर्जी
          9. कुम्हार
          10. माला बनाना वाला
          12. मूर्तिकार

          यह कोई जाति नहीं है, कोई भी भाई - बहिन चाहे वो किसी भी जाति के है लेकिन इनमे से कोई कार्य करते है तो आवेदन कर सकते है, जैसे किसी भी जाति का आदमी दर्जी (सिलाई का कार्य) या लुहार (लोहे का कार्य) करता है तो इसमें आवेदन कर सकते है

          क्या लाभ मिलेगा / कितना लोन मिलेगा
          1. पंजीकृत व्यक्ति को पहली किस्त एक लाख रुपए का लोन मिलेगा, जिसे 18 महीनो की किस्तों में वापस जमा करवाने पर दो लाख रुपए का और लोन मिलेगा जिसे 30 मिहनों में जमा करवाना होगा
          2. आपके कार्य को बेहतर बनाने के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी जिसमे प्रतिदिन 500 रुपए भत्ता भी मिलेगा
          3. उपकरणों की खरीद के लिए 15000 रुपए अलग से दिए जायेंगे, जिसे वापस भाई भरना पड़ेगा


          आवेदन के लिए कागजात क्या चाहिए
          1. आधार कार्ड
          2. मोबाइल नंबर (आधार से लिंक होना जरूरी)
          3. बैंक डायरी
          4. राशन कार्ड
          5. फिंगर लगेगा इसलिए आवेदक स्वयं को उपस्थित होना जरूरी
          6. ई श्रमिक कार्ड (यदि हो तो)

          आवेदन कहां से और कैसे कर सकते
          सबसे पहले नजदीकी ई मित्र पर जाकर पंजीकरण करावे, पंजीकरण के कुछ समय बाद आपको एक विश्वकर्मा प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड मिलेगा, उसके आधार पर ही लोन के लिए आवेदन कर सकेंगे !



          इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना - महिलाओं / बालिकाओं को निःशुल्क कंप्यूटर शिक्षा

          इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना

          इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना प्रशिक्षण के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म
          इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना पात्रता 
          • महिलाओं / बालिकाओं इस योजना में पात्र है 
          इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना लाभ 
          इस योजना में निम्न कंप्यूटर कोर्स फ्री में कराये जाते है महिलाओं / बालिकाओं को
          • RS-CIT
          • RS-CFA
          • RS-CSEP
          इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना दस्तावेज 
          • जन आधार कार्ड
          • आधार कार्ड
          • पासपोर्ट साइज फोटो
          • 10 वी की अंक तालिका
          इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना आवेदन कैसे करे 


          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना राजस्थान - फ्री मोबाइल फोन योजना 2023

          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना 

          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना पात्रता जाँच लिंक  

          पोर्टल खोलने के लिए क्लीक करे 

          कैंप लिस्ट डाउनलोड पोर्टल लिंक 


          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना की पात्रता 

          • विधवा एकलनारी पेंशनर 
          • नरेगा में 100 दिन (वर्ष 2022-23) कार्य करने वाली महिलाए 
          • इंदिरा गाँधी शहरी रोजगार गारण्टी योजना में 50 दिन काम करने वाली महिलाए (वर्ष 2022-23)
          • सरकारी स्कूल की छात्राए कक्षा 9 से 12 वी तक की 
          • कालेज की छात्राए (कलावर्ग, विज्ञान वर्ग, वाणिज्य वर्ग, आईटी, संस्कृत शिक्षा, पॉलिटेक्निक)

          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना का लाभ 
          • लाभार्थी के ई-वॉलेट में 6125 रुपए मोबाइल फोन, 675 रुपए सिम कार्ड व इंटरनेट डेटा प्लान के लिए जमा किए जाएंगे। इसके बाद अप्रेल 2024 एवं अप्रेल 2025 में भी इंटरनेट के लिए 900-900 रुपए जमा किए जाएंगे।.
          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना कहा व कब मिलेगा फोन 
          • 10 अगस्त से महिलाओं व छात्राओं को स्मार्टफोन शिविर लगाकर बांटे जाएंगे। 
          • शिविर के दिनांक वह स्थान की जानकारी चयनित लाभार्थियों को एसएमएस के माध्यम से भेजी जाएगी . 
          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना के जरुरी दस्तावेज 
          कैम्प में योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को निम्न अनिवार्य दस्तावेज साथ में ले कर आना है -
          • जन आधार कार्ड कॉपी (मोबाइल नंबर, आधार कार्ड, बैंक खाता जन आधार कार्ड से लिंक हो )
          • आधार कार्ड कॉपी
          • पैन कार्ड कॉपी (यदि हो तो)
          • नवीनतम कलर पासपोर्ट साइज फ़ोटो
          • लाभार्थी के जन आधार में रजिस्टर्ड मोबाइल न वाला स्मार्ट फ़ोन जिसमे जन आधार वॉलेट 2.0 ऐप इनस्टॉल करके लावे।
          • लाभार्थी की पात्रता से संबंधित दस्तावेज (अध्ययनरत छात्राओं को आईडी कार्ड/एनरोलमेंट कार्ड
            विधवा महिला को पीपीओ नंबर)
          • नोट - लाभार्थी की उम्र 18 वर्ष से  कम है तो, दस्तावेज मुखिया के लाये और मुखिया को साथ ले कर आवे।*
          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना जन आधार कार्ड अपडेट 
          तः सभी नागरिक अपने जन आधार में निम्न सूचनाएं जांच लेवे और कोई गलती हो तो तुरंत अपडेट करवा लेवे नही तो लाभार्थी सूची में नाम होने के बाद भी योजना से वंचित रह सकते है -
          • जन आधार मुखिया की मृत्यु हो गयी हो या अन्य से पुनर्विवाह कर लिया हो तो मुखिया चेंज करवा लेवे।
          • मुखिया एवं सरकारी कॉलेज या स्कूल (कक्षा 9 से 12) में पढ़ने वाली छात्राएं के नाम के साथ जुड़े मोबाइल न वर्तमान में बंद हो गए हो तो नए मोबाइल नं अपडेट करवा लेवे।
          • मुखिया एवं सरकारी कॉलेज या स्कूल (कक्षा 9 से 12) में पढ़ने वाली छात्राएं के नाम के साथ जुड़े बैंक खाता संख्या वर्तमान में बंद है तो उसे पुनः चालू करवा लेवे या नया बैंक खाता अपडेट करवा लेवे।
          • मुखिया एवं सरकारी कॉलेज या स्कूल (कक्षा 9 से 12) में पढ़ने वाली छात्राएं के नाम के साथ आधार न जुड़े नही है या गलत है तो अपडेट करवा लेवे।
          • ईमित्र से ये सूचनाये अपडेट करवाने के बाद 1st और 2nd लेवल सत्यापन भी जरूर करवाये ताकि ये सूचनायें जल्द अपडेट हो सके।

          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना फ़ोन 6500 से कम मूल्य के 


          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना पंजीयन प्रक्रीया

          इन्दिरा गांधी स्मार्ट फोन योजना पात्रता जाँच कैसे करे 


          विशेष नॉट : आपको मोबाइल फोन लेने कहा व कब जाना है उसका विभाग दुवारा SMS मिलेगा तभी आपको मोबाइल फोन लेने जाना है बेवजह केम्प स्थल पर भीड़ नहीं करनी है  आपको 

          Online Apply For CSC Center 2023

          नमस्ते दोस्तों! क्या आप CSC (सामाजिक आपूर्ति केंद्र) केंद्र खोलने के बारे में जानना चाहते हैं? यदि हां, तो आप सही जगह पर हैं। CSC केंद्र खोलने के माध्यम से, आप आपके आस-पास के लोगों को डिजिटल सेवाएं प्रदान करके उनकी सहायता कर सकते हैं और उनकी जीवन में सकारात्मक परिवर्तन ला सकते हैं। यहां हम आपको CSC केंद्र खोलने की पूरी प्रक्रिया बताएंगे:

          CSC केंद्र क्या होता है:

          • CSC का पूरा रूप "सामाजिक आपूर्ति केंद्र" है। यह भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक पहल है जो ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में डिजिटल सेवाओं की प्रदान करने का माध्यम है। इसका मुख्य उद्देश्य भारत को डिजिटल युग में ले जाना है और तकनीकी रूप से सशक्तिकृत करना है। CSC केंद्र एक ऐसा स्थान है जहां डिजिटल सेवाओं की प्रदान की जाती है ताकि आम लोग अपनी जरूरतों को पूरा कर सकें और सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें।

          CSC केंद्र के लाभ:

          • CSC केंद्र के माध्यम से, आप डिजिटल वित्तीय सेवाएं प्राप्त कर सकते हैं जैसे कि खाता खोलना, आधार-पैन लिंक करना, बैंकिंग सेवाओं का उपयोग करना आदि।
          • इसके साथ ही, CSC केंद्र आपको सरकारी योजनाओं की जानकारी प्रदान करता है और आपकी मदद करता है उन योजनाओं के लिए ऑनलाइन आवेदन करने में।
          • यहां एक बड़ी गुणवत्ता यह है कि CSC केंद्र उद्यमियों को सामरिक दक्षता की प्रशिक्षण प्रदान करता है, जिसके माध्यम से उन्हें डिजिटल सेवाओं के लिए प्रमाणीकरण प्राप्त होता है।

          CSC केंद्र खोलने के लिए निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए:

          1. नागरिकता: आपको भारतीय नागरिक होना चाहिए।
          2. शैक्षिक योग्यता: आपको कम से कम माध्यमिक (10वीं) पास होना चाहिए।
          3. क्षेत्रीय समर्थन: आपको अपने क्षेत्र की स्थानीय समर्थन संगठनों, प्रशासनिक निकायों, या लोक सेवा केंद्रों का समर्थन प्राप्त करना चाहिए।
          4. व्यवसायिक निपटान: आपको व्यवसायिक निपटान और व्यापारिक दक्षता होनी चाहिए।
          5. इंटरनेट और कंप्यूटर का ज्ञान: आपको इंटरनेट, कंप्यूटर और बेसिक डिजिटल ज्ञान की अच्छी जानकारी होनी चाहिए।
          6. व्यापारिक पूंजी: CSC केंद्र को शुरू करने के लिए आपके पास व्यापारिक पूंजी होनी चाहिए। यह आपके केंद्र की स्थापना, उपकरणों, प्रशिक्षण और सुविधाओं के लिए आवश्यक होगी।
          7. क्षेत्रीय अनुभव: आपको अपने क्षेत्र में सेवा करने का अनुभव और अवधारणा होनी चाहिए।

          CSC केंद्र खोलने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए:

          1. पहचान प्रमाण पत्र (Aadhaar Card, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस आदि)
          2. पता प्रमाण पत्र (बिजनेस पत्र, खाता की प्रतिलिपि, इलेक्ट्रिसिटी बिल, पासबुक आदि)
          3. आय प्रमाण पत्र (आयकर रिटर्न, वेतन पर्चा, आयकर विभाग द्वारा प्रमाणित किया गया किसी भी दस्तावेज़)
          4. शिक्षा प्रमाण पत्र (माध्यमिक या उच्चतर माध्यमिक परीक्षा के परिणाम का प्रमाण पत्र, स्नातक या स्नातकोत्तर के प्रमाण पत्र)
          5. बैंक खाता विवरण (बैंक खाता संख्या, बैंक का नाम, ब्रांच का पता, आईएफएससी कोड)
          6. आधार और पैन कार्ड की प्रतिलिपि (यदि आवश्यक हो)


          CSC केंद्र कैसे प्राप्त करें:

          • पहला चरण: पंजीकरण
          1. सबसे पहले, अपने वेब ब्राउज़र में CSC की आधिकारिक वेबसाइट https://register.csc.gov.in/ पर जाएं।
          2. वेबसाइट पर, "अप्लाई ऑनलाइन" वाले विकल्प पर क्लिक करें या "New CSC Registration" या "एनरोल" बटन दबाएं।
          3. एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको आवेदन प्रक्रिया की जानकारी पूरी करनी होगी। इस पृष्ठ पर CSC VLE वाले ऑप्शन पर क्लिक करके अपने TEC Certificate Number, और MOBILE Number भरेंगे। अगर आपके पास TEC Certificate Number नहीं है तो निचे दिए गए वीडियो को दखे कर आप TEC Certificate Number वीडियो में बताए अनुसार प्राप्त कर लेंगे 

          • दूसरा चरण: आवेदन पत्र भरें
          1. एक नया पेज खुलेगा जहां आपको आवेदन प्रक्रिया की जानकारी पूरी करनी होगी। इस पृष्ठ पर अपना राज्य, जिला और नगरपालिका का चयन करें।
          2. अपनी पहचान प्रमाणित करने के लिए आपको आधार नंबर दर्ज करना होगा। यदि आपके पास आधार कार्ड नहीं है, तो आपको अन्य पहचान पत्र जैसे पैन कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड आदि का उपयोग कर सकते हैं।
          3. जब आप अपनी पहचान प्रमाणित करें, तो आपको व्यक्तिगत और संपर्क जानकारी जैसे नाम, पता, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि भरना होगा।
          4. आवेदन प्रक्रिया के दौरान, आपको CSC सेवाओं के लिए लागू होने वाले नियम और शर्तों को स्वीकार करना होगा।
          5. आपको अपनी पहचान प्रमाणित करने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने की आवश्यकता हो सकती है, जैसे कि पहचान प्रमाण पत्र, पता प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, आदि।

          • तीसरा  चरण: अभ्यास केंद्र की स्थापना
          1. जब आपका आवेदन स्वीकृत हो जाता है, तो आपको एक अभ्यास केंद्र स्थापित करने के लिए अनुमति मिलेगी।
          2. आपको केंद्र के लिए उपयुक्त स्थान चुनना होगा, साथ ही आपको कंप्यूटर, प्रिंटर, स्कैनर, इंटरनेट सुविधा, आदि की व्यवस्था करनी होगी।
          • चौथा चरण: प्रशिक्षण और प्रमाणीकरण
          1. एक बार केंद्र स्थापित करने के बाद, आपको CSC सेवाओं के लिए आवश्यक प्रशिक्षण लेना होगा।
          2. यह प्रशिक्षण आपको डिजिटल सेवाओं, बैंकिंग, पेमेंट गेटवे, और अन्य संबंधित कार्यों में योग्य बनाएगा।
          3. प्रशिक्षण पूरा होने के बाद, आपको CSC सेंटर का प्रमाणीकरण प्राप्त करेंगे और आप वाणिज्यिक रूप से आपकी सेवाएं प्रदान करना शुरू कर सकेंगे।

          इस तरीके से आप CSC केंद्र खोलने की पूरी प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं। 

          मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना - 10 लाख का दुघर्टना बिमा फ्री में

          मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना

          मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना क्या है

          • मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना के तहत मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकृत परिवार को ₹1000000 का दुर्घटना बीमा बिल्कुल निशुल्क दिया जाता है 

          मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना की पात्रता 

          • मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में समस्त सक्रिय बीमित परिवार
          • मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना के अंतर्गत बीमित सदस्यों के रूप में बीमित परिवार के वह सभी सदस्य सम्मिलित होंगे जिनका नाम जन आधार कार्ड में अंकित है।
          • इसके अतिरिक्त बीमित परिवार का एक साल तक की आयु का वह शिशु भी बीमित सदस्य माना जाएगा जिसका नाम जन आधार कार्ड में अंकित नहीं है।

          मुख्यमंत्री सिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना में कौन सी दुर्घटनाएं शामिल है

          • सड़क दुर्घटना से होने वाली मृत्यु/ क्षति
          • ऊंचाई से गिरने के कारण होने वाली मृत्यु/ क्षति
          • मकान के ढहने के कारण होने वाली मृत्यु/ क्षति
          • बिजली के झटके के कारण होने वाली मृत्यु/ क्षति
          • रासायनिक द्रव्यों के छिड़काव के कारण होने वाली मृत्यु/ क्षति
          • डूबने के कारण होने वाली मृत्यु/ क्षति
          • जलने से होने वाली मृत्यु/ क्षति

          मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना में मिलने वाला लाभ

          • मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना के तहत अगर कोई दुर्घटना हो जाती हैं तो एक सदस्य की मृत्यु होने  पर ₹500000 एक से अधिक सदस्यों की मूर्ति पर 1000000 रुपए दिए जाते हैं 
          • इसी प्रकार से दुर्घटना में हाथ पैर आँख में से 2 अंक पूर्ण रूप से स्थाई अपग होने पर ₹300000 
          • तथा हाथ पैर आंख में से किसी एक अंग पूर्ण स्थाई क्षति होने पर डेढ़ लाख रुपए दिए जाते हैं

          मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना में पंजीयन कैसे करें

          • इस योजना का लाभ लेने के लिए राजस्थान सरकार के द्वारा 24 अप्रैल 2023 से लगाए जा रहे महंगाई राहत कैंप में जाकर आपको पंजीयन करवाना है और अगर आप मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत पंजीकृत हैं तो आपको इस योजना का लाभ मिलने भी लग जाएगा इस योजना में अलग से आवेदन की जरूरत नहीं पड़ती जैसे ही मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में आप आवेदन करते हैं तो इस योजना के लिए भी आप पात्र हो जाते हैं

          दुर्घटना होने पर क्लेम के लिए आवेदन के दस्तावेज 

          1. सड़क दुर्घटना/ऊंचाई से गिरने/मकान के ढहने से मृत्यु होने पर दस्तावेज - [मृत्यु प्रमाण-पत्र,  व इनमें से कम से कम कोई एक दस्तावेज़-(i) पोस्टमार्टम रिपोर्ट (ii) एफ आई आर / रोजनामचा/ मर्ग रिपोर्ट (iii) पंचनामा (iv) चिकित्सालय द्वारा डेथ समरी]
          2. सड़क दुर्घटना/ऊंचाई से गिरने/मकान के ढहने से क्षति होने पर दस्तावेज - [1- चिकित्सालय की रिपोर्ट, 2- एफ आई आर / रोजनामचा (यदि कराई गई हो), 3- डायग्नोस्टिक रिपोर्ट , 4- मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी स्थायी पूर्ण अपंगता का प्रमाण-पत्र]
          3. बिजली के झटके के कारण या रासायनिक द्रव्यों के छिड़काव के कारण मृत्यु होने पर दस्तावेज - [1-मृत्यु प्रमाण-पत्र, 2-इनमें से कम से कम कोई एक दस्तावेज़- (i) पोस्टमार्टम रिपोर्ट (ii) चिकित्सालय द्वारा जारी डेथ समरी, 3-एफ आई आर, 4- इलाज का विवरण यदि चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।]
          4. बिजली के झटके के कारण या रासायनिक द्रव्यों के छिड़काव के कारण क्षति होने पर दस्तावेज -[1- चिकित्सालय की रिपोर्ट,2 -डायग्नोस्टिक रिपोर्ट, 3- मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी स्थायी पूर्ण अपंगता का प्रमाण-पत्र]
          5.  डूबने के कारण व जलने की स्थिति में मृत्यु होने पर दस्तावेज - [1- मृत्यु प्रमाण-पत्र, 2 -एफ आई आर, 3- पोस्टमार्टम रिपोर्ट, 4- एफ आर]
          6. डूबने के कारण व जलने की स्थिति में क्षति होने पर दस्तावेज - [1 -चिकित्सालय की रिपोर्ट,2 -एफ आई आर / रोजनामचा, 3 -एफ आर, 4- डायग्नोस्टिक रिपोर्ट, 5 -मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी स्थायी पूर्ण अपंगता का प्रमाण-पत्र]

          मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना मैं दावा करने के नियम 

          • परिवार के किसी सदस्य की दुर्घटना में मृत्यु होने अथवा दुर्घटना के कारण पॉलिसी में उल्लेखित स्थायी पूर्ण क्षति होने की स्थिति में बीमित परिवार के किसी भी वयस्क सदस्य द्वारा ऑनलाइन पोर्टल पर दावा प्रपत्र की पूर्ति की जायेगी।
          • दुर्घटना दिनांक (मृत्यु होने की स्थिति में मृत्यु दिनांक) से 30 दिवस की अवधि में दावा प्रस्तुत करना ज़रूरी होगा।
          • विलम्ब के समुचित कारणों का उल्लेख करते हुए दावा प्रपत्र की दुर्घटना दिनांक / मृत्यु दिनांक से 60 दिवस की अवधि में पूर्ति की जा सकेगी
          • दावा प्रपत्र पोर्टल पर सबमिट करने पर जनाधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर पर ओ टी पी भिजवाया जायेगा। मुखिया की मृत्यु की स्थिति में दावेदार द्वारा ऑनलाइन दावा प्रपत्र में अंकित मोबाइल नंबर पर ओ टी पी भिजवाया जायेगा। दावेदार द्वारा ओ. टी .पी. को सबमिट करने तथा पोर्टल द्वारा स्वीकृत कर लिए जाने पर ही दावा पोर्टल पर रजिस्टर किया जायेगा।
          • पोर्टल पर दावा दर्ज होने के बाद बीमाकर्ता द्वारा दावे का परीक्षण किया जायेगा तथा पॉलिसी के परिपेक्ष्य में उचित पाए जाने पर दावा स्वीकृत / अस्वीकृत किया जायेगा। अन्य दस्तावेज़ वांछित होने पर बीमाकर्ता द्वारा दावेदार से ऑनलाइन ही दस्तावेज़ों की मांग की जाएगी।
          • सभी वांछित दस्तावेज़ प्राप्त होने / अन्वेषण रिपोर्ट प्राप्त होने के 30 दिवस में दावे का निस्तारण कर दिया जायेगा।
          • बीमाकर्ता द्वारा दावेदार के मोबाइल नंबर पर स्वीकृति / अस्वीकृति एवं आक्षेप के सम्बन्ध में मैसेज भिजवाया जायेगा।
          • 8 दावा स्वीकृत योग्य होने पर बीमाकर्ता कंपनी द्वारा जनाधार कार्ड से लिंक मुखिया के बैंक खाते में ऑनलाइन भुगतान की कार्यवाही की जाएगी
          • मुखिया की मृत्यु होने की स्थिति में पति तथा उनके भी जीवित नहीं होने पर परिवार में शेष रहे सदस्यों में भुगतान योग्य राशि समान अंशों में विभाजित कर बीमाकर्ता द्वारा बीमित परिवार के सदस्यों के बैंक खातों में ऑनलाइन जमा कराई जायेगी।
          • परिवार (जनाधार में अंकित) के सभी सदस्यों की मृत्यु होने की स्थिति में कोई राशि देय नहीं होगी।
          • पारिवारिक विवाद की स्थिति अथवा न्यायिक प्रक्रिया लंबित होने पर सक्षम न्यायालय के निर्णय के अनुसार भुगतान देय होगा।

          मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना के अंतर्गत आवेदन करें

          • इस योजना में दावा करने के लिए ऑनलाइन आवेदन ई -मित्र से ऑनलाइन कर सकते है ईमित्र से ऑनलाइन कैसे किया जाता है उसके लिए आप निम्न वीडियो को एक बार जरूर देखें